Internet

Digilocker App Kya hai – कैसे इसका उपयोग करे: जानिये इससे जुड़े कुछ विशेष तथ्य

नमस्कार दोस्तों, Digilocker या Digilocker App,भारत सरकार के द्वारा चलाई जा रही एक योजना डिजिटल इंडिया प्रोग्राम के तहत बनाया गया एक एप है।जिसके अन्तर्गत आप अपने सभी महत्वपूर्ण दस्तावेज संरक्षित कर सकते है।

क्या कभी किसी कॉलेज के प्रवेश परीक्षा में आप अपने ज़रूरी दस्तावेज़ ले जाने से घबराते है ? आपको यह भय सताता है कि कहीं गलती से आपके ज़रूरी कागज़ात खो ना जाए ? हमारे देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी डिजिटल इंडिया कार्यक्रम के तहत डिजिलॉकर की शुरुआत की है। अगर आप कहीं इंटरव्यू या एडमिशन के लिए जा रहे है तो वहां डिजिलॉकर पर अपने दस्तावेज़ों की लिंक दे सकते है ,जिससे आपके कागज़ात वह परख सकते है।

डिजिलॉकर एक ऑनलाइन सेवा है जो डिजिटल इंडिया के तहत इलेक्ट्रॉनिक्स और आईटी मंत्रालय भारत सरकार द्वारा जारी की गयी है। डिजिलॉकर इन प्रमाण पत्रों को डिजिटल प्रारूप में प्रामाणिक दस्तावेजों जैसे कीड्राइविंग लाइसेंस ,शैक्षणिक मार्क शीट को रखने के लिए सभी को क्लाउड में एक खाता प्रदान करती है। यह एप डाक्यूमेंट्स यानी दस्तावेज़ों की स्कैन की गयी copies को अपलोड करने के लिए एक जीबी स्टोरेज स्थान प्रदान करता है।

digiLocker-app
डिजिलॉकर क्या है और कैसे इसका उपयोग करे : जानिये इससे जुड़े कुछ विशेष तथ्य

डिजिलॉकर एप्प पर खाता खोलने के लिए क्या है ज़रूरी

डिजिलॉकर का उपयोग करने के लिए उपभोगकर्ताओं के पास आधार नंबर होना आवश्यक है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जुलाई 2015 को डिजिलॉकर की शुरुआत की थी। अगर आप डिजिलॉकर में अपना खाता खोलना चाहते है उसके लिए आधार कार्ड का होना आवश्यक है। हम किसी भी प्रकार के ज़रूरी कागज़ात पैन कार्ड ,वोटर आईडी ,पासपोर्ट इत्यादि इस एप में रख सकते है।

डिजिलॉकर एक सुरक्षित एप है। जैसे हम बैंक अकाउंट में निश्चिंत होकर पैसे रख सकते है। उसी तरह आप अपने ज़रूरी दस्तावेज डिजिलॉकर में रख सकते है।

डिजिलॉकर का उपयोग कैसे करे – How to Use Digilocker App

अपने स्मार्टफोन पर आप डिजिलॉकर वेबसाइट पर जाए अथवा आप चाहे तो डिजिलॉकर एप पर जा सकते है। आप अपने आधार नंबर , मोबाइल नंबर के सहारे आप एक यूजर आईडी बना सकते है। इसके लिए एक OTP की ज़रूरत है। आप अपने दस्तावेज खुद अपलोड कर सकते है और उन्हें इ साइन कर सकते है।

आप इ डॉक्यूमेंट का लिंक शेयर करके दूसरो के साथ डॉक्यूमेंट शेयर कर सकते है।डिजिलॉकर के साथ रजिस्ट्रेशन होने वाले संगठनों में यूआईडीएआई ,सड़क परिवहन ,राजमार्ग मंत्रालय ,आयकर विभाग और विभिन्न स्कूल बोर्ड शामिल है जिसमे सीबीएसई ,राज्य और केंद्र सरकार के मंत्रालय शामिल है।

नवीनतम आंकड़ों के मुताबिक डिजिलॉकर के एक करोड़ पैंतीस लाख उपभोगकर्ता है जो डिजिलॉकर का उपयोग पैन कार्ड ,मार्कशीट ,जन्म प्रमाण पत्र ,राशन कार्ड इत्यादि सुरक्षित रखने के लिए करते है। आप डिजिलॉकर पर इस तरह अपना अकाउंट बनाये

How to create account in Digilocker ?

सबसे पूर्व डिजिलॉकर के वेबसाइट digilocker.gov.in अथवा digitallocker.gov.in वेब पेज पर जाए। उसके बाद साइन अप करने के लिए क्लिक करे। एक नविन पृष्ट आपके समक्ष खुल जाएगा और उस पर मोबाइल नंबर रजिस्टर करे। उसके पश्चात डिजिलॉकर आपके फ़ोन नंबर पर एक पासवर्ड भेजेगा ,उसे दर्ज़ अवश्य करे। उसके बाद अपना यूजर नाम और पासवर्ड को व्यवस्थित करे। अब आप डिजिलॉकर की शुरुआत कर सकते है।

How to upload and save documents in digilocker ? -डाक्यूमेंट्स को डिजिलॉकर पर अपलोड और सेव कैसे करे

डिजिलॉकर एप आप गूगल प्ले स्टोर से आसानी से डाउनलोड करके इस्तेमाल कर सकते है। आप डिजिलॉकर पर जाकर लॉग इन करे और अपलोडेड डाक्यूमेंट्स पर जाकर अपने दस्तावेजों को अपलोड कर दे। इसके पश्चात उसके विषय में थोड़ा लिख दे और अपलोड बटन पर क्लिक करना ना भूले।

यदि आप डिजिलॉकर पर दस्तावेज अपलोड करना चाहते है तो दस्तावेज का प्रकार चुने और दस्तावेज स्कैन की स्कैन की गयी कॉपी को अपलोड करे। OTP के माध्यम से आधार ऑथेंटिकेशन यानी प्रामिनीकरण विधि का उपयोग करके दस्तावेज को इ साइन कर सकते है और इसे आवश्यक एजेंसी से साझा कर सकते है।

आप अपने दस्तावेज़ों को डिजिलॉकर पर सेव कर सकते है। पहले आपको अपने कागज़ातों को स्कैन करना होगा और आप चाहे तो दस्तावेज़ों की साफ़ छवि ले सकते है और इसके बाद आपको अपने दस्तावेज़ों को सेव करने की ज़रूरत होती है।

डिजिलॉकर क्या सुरक्षित है ? – Is digilocker is safe to use ?

डिजिलॉकर एक अत्यधिक सुरक्षित प्रणाली है क्यूंकि इसे आधार authentication द्वारा क्लाउड और मोबाइल एप को सुरक्षित किया गया है। आपको इन सेवाओं का लाभ उठाने के लिए आधार नंबर और OTP शेयर करना होगा। यह ध्यान देने की ज़रूरत है कि हर व्यक्ति के पास एक डिजिलॉकर खाता हो सकता है क्यों कि यह व्यक्ति के आधार दस्तावेजों के साथ जुड़ा होता है। आप निश्चिंत होकर और बिना परेशानी के अपने डाक्यूमेंट्स यहाँ अपलोड कर सकते है। यह बहुत सुरक्षित है।

डिजिलॉकर के भाग

प्रत्येक उपभोगकर्ता के डिजिटल लॉकर में निम्नलिखित भाग होते है जैसे

My certificates: इस अनुभाग के दो खंड है डिजिटल डॉक्यूमेंट और अपलोडेड डाक्यूमेंट्स

डिजिटल कागज़ात : इसके अंतर्गत सरकारी विभागों और अन्य एजेंसिओं द्वारा उपभोगकर्ता को जारी किये दस्तावेज़ों के यूआरएल शामिल है।

अपलोड किये गए दस्तावेज़ :यह उन सभी दस्तावेज़ों की सूची बनाता है जो उपभोगकर्ता अपलोड करते है। अपलोड किये जाने वाली प्रत्येक फाइल का आकार दस MB से अधिक नहीं होना चाहिए। आप pdf ,jpg, jpeg ,png ,bmp ,gif जैसे फाइल अपलोड कर सकते है।

My profile: इस भाग में UDAI डेटाबेस में उपलब्ध उपभोगकर्ता की पूरी प्रोफाइल प्रदर्शित करता है।

My issuer: यह भाग issuer के नाम और उपभोगकर्ता द्वारा जारी किए गए दस्तावेज़ों की संख्या प्रदर्शित करता है।

My requester : यह भाग issuer के नाम और उपभोगकर्ता द्वारा जारी किए गए दस्तावेज़ों की संख्या प्रदर्शित करता है।

Directories : यह भाग अपने यूआरएल के साथ रजिस्टर्ड जारीकर्ताओं और अनुरोध करने वाले लोगो की पूरी सूची प्रदर्शित करता है।

डिजिलॉकर का उपयोग

2017 में डिजिलॉकर ने ICSC बोर्ड के छात्रों को अपने दसवीं और बारहवीं के सर्टिफिकेट्स और ज़रूरी दस्तावेज़ों को संग्रह करने और ज़रूरत पड़ने पर एजेंसिओं के साथ साझा करने की सुविधा दी गयी थी। मई 2017 में टाटा मेमोरियल अस्पताल सहित 108 से अधिक कैंसर रोगियों के मेडिकल दस्तावेज और परीक्षण रिपोर्ट को सुरक्षित रखने के लिए डिजिलॉकर के उपयोग को आरम्भ करने की योजना बना रहे थे।

निष्कर्ष

डिजिलॉकर में आसानी से स्कूल ,कॉलेज के मार्कशीट इत्यादि डाक्यूमेंट्स बिना परेशानी के स्टोर कर सकते है। ज़्यादा से ज़्यादा पच्चास MB की दस्तावेज अपलोड कर सकते है। देश के नागरिक अपने डिजिटल दस्तावेजों को अपनी सुविधा के लिए ऑनलाइन साझा कर सकते है। यह कागज़ी करवाई को बचाने में हर संभव मदद करता है। डिजिलॉकर अकाउंट आप आसानी से बना सकते है और लॉगिन करने के लिए यूज़रनेम और पासवर्ड का उपयोग कर सकते है।

FAQ’s

  • What Links can be used to access DigiLocker?

    DigiLocker can be accessed at https://digilocker.gov.in and https://digitallocker.gov.in

  • DigiLocker के क्या लाभ है?

    आप अपने महत्वपूर्ण दस्तावेज को कहीं से डाउनोड कर सकते है और उसका उपयोग भी कर सकते है,इसमें अपलोड किये गये दस्तावेज कानूनी तौर पर मान्य होते है और इसको किसी के साथ भी शेयर कर सकते है

  • DigiLocker में हम कैसे रजिस्टर कर सकते है?

    इस एप में रजिस्टर करने के लिए आपके पास अपना रजिस्टर्ड मोबाईल नम्वर एवं आधार नम्बर की आवश्यकता होती है।

  • कभी कभी मेरे मोबाईल पर ओटीपी नही आता है तो कैसे रजिस्टर करें?

    यदि कुछ तकनीकी खराबी के कारण आपके पास ओटीपी नही आता है तो आप थोड़ी देर इंतजार करें या फिर थोड़ी देर बाद फिर से कोशिश करें

  • यदि मै DigiLocker का यूजरनेम या पासवर्ड भूल जाता हूं तो फिर क्या करें?

    DigiLocker में लागिन करने के लिए यूजरनेम कि आवश्यकता नही होती है केवल आधार नम्बर से लागिनकर सकते है।

Related posts

List of Best Online Payment Apps – भारत के लोकप्रिय और ज़्यादा इस्तेमाल होने वाले 8 – ऑनलाइन पेमेंट एप

Saumya

Jio Meet Kya Hai Hindi Me – जिओ मीट क्या है हिंदी में पूरी जानकारी

Saumya

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.