Fitness

Immunity Kaise Badhaye – इम्यूनिटी कैसे बढ़ाये?

दोस्तों, जिस तरह की स्थिति अभी चल रही है, उसके अनुसार हमारे शरीर में रक्त और प्रतिरक्षा मजबूत और शक्तिशाली बनी रहे। इस लेख में मैं आपको अपनी Immunity Kaise Badhaye इसके लिए कुछ सरल तरीके बता रहा हूँ, जिसे आप घर बैठे ही कर सकते हैं, ये प्रतिरक्षा बूस्टर हो सकते हैं ।

Immunity-Kaise-Badhaye

Immunity Kya Hoti Hai?

जिस व्यक्ति की प्रतिरोधकता क्षमता मजबूत होती है तो उसके शरीर में वायरस या बैक्टरिया पहुच कर भी उसका नुकसान नही कर पाते है लेकिन वहीं जिसकी इम्यूनिटी कमजोर होती है उसका शरीर वायरस या बैक्टिरिया को झेल नही पाता है।जिसके कारण सर्दी, जुकाम, फ्लू, खांसी, बुखार जैसे रोगो का सामना करना पड़ता है।

जिस व्यक्ति को इस तरह के रोगो से गुजरते है तो उनको ये समझ लेना चाहिये कि उसकी इम्यूनिटी कमजोर हो रही है और उसे मजबूत करने की जरुरत है।

सर्दियों का मौसम एक तरह से रोगप्रतिरोधक शक्ति के परीक्षण का मौसम है, लेकिन अच्छी बात यह है कि रोगप्रतिरोधक शक्ति को मजबूत बनाने के लिए भी यही सबसे अच्छा मौसम है।

हमारी प्रतिरक्षा प्रणाली वायरस से लड़ती है। हमारी प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ावा देने के लिए, विटामिन सी का सेवन करना बहुत आवश्यक है। सबसे पहले, यह समझें कि हमारा प्रतिरक्षा तंत्र कैसे काम करता है।

जब भी हमारे शरीर में किसी भी प्रकार के वायरस का हमला होता है, तो हमारे पास दो प्रकार के होते हैं। हमारे शरीर में रक्त कोशिकाओं की आरबीसी (लाल रक्त कोशिकाएं) एवं WBC (श्वेत रक्त कोशिकाएं) पर निर्भर करता है।

क्यों होती है इम्यूनिटी कमजोर

– शरीर में चर्बी का अनावश्यक रूप से जमा होना।

– वजन बहुत कम होना।

– फास्टफूड, जंकफूड आदि का ज्यादा सेवन।

– शरीर को ठीक से पोषण न मिलना।

– धूम्रपान, शराब, ड्रग आदि का सेवन।

– पेनकिलर, एंटीबॉयोटिक आदि दवाओं का लंबे समय तक सेवन।

– लंबे समय तक तनाव में रहना।

– लंबे समय तक कम नींद लेना अथवा अनावश्यक रूप से देर तक सोना।

– शारीरिक श्रम का अभाव।

– प्रदूषित वातावरण में लंबे समय तक रहना।

– बचपन और बुढ़ापे में रोगप्रतिरोधक शक्ति सामान्य तौर पर कुछ कमजोर होती है, पर खराब जीवनशैली के चलते युवावस्था में भी यह कमजोर हो सकती है।

– गर्भवती स्त्री का खान-पान ठीक न हो या वह कुपोषण का शिकार हो तो होने वाले बच्चे की भी रोगप्रतिरोधक क्षमता कमजोर होने की संभावना बनी रहती है।

– अगर आप चीनी ज्यादा खाते हैं तो यह इम्यूनिटी के लिए नुकसानदेह है। अमेरिकन जर्नल ऑफ क्लीनिकल न्यूट्रिशन में छपे एक शोध के अनुसार सौ ग्राम या इससे अधिक शुगर खा लेने की स्थिति में श्वेत रुधिर कणिकाओं की रोगाणुओं को मारने की क्षमता पांच घंटे तक के लिए कमजोर पड़ जाती है।

– कम पानी पीने से इम्यूनिटी कमजोर पड़ती है, क्योंकि पर्याप्त पानी के अभाव में शरीर से विजातीय द्रव्यों को बाहर निकाल पाना कठिन हो जाता है।

इम्युनिटी कैसे बढ़ाये?- Immunity Kaise Badhaye

  • सबसे पहली चीज है हल्दी जो हर रसोई में उपलब्ध है। पहली बात तो यह है कि सुबह उठकर थोड़ा गर्म पानी पीएं और इसमें 2 चुटकी हल्दी पाउडर मिलाएं। इसमें 2 पिसी काली मिर्च (काली मिर्च के बीज) भी मिलाएं और अंत में ½ नींबू के ताजा रस मिलाएं। पेय का स्वाद बेहतर बनाने के लिए, आप इसमें 2/3 चम्मच शुद्ध शहद मिला सकते हैं।
  • एंटीऑक्सिडेंट की पर्याप्त मात्रा अपने आहार में शामिल करें।क्योंकि एंटीऑक्सिडेंट हमारे शरीर की डेड कोशिकाओं को ठीक करती है जिससे हमारी शरीर में उम्र का प्रभाव भी नही दिखता है।
  • Immunity Badhane में गाजर, पालक, चुकंदर, टमाटर, फूलगोभी, खुबानी, जौ, भूरे चावल, शकरकंद, संतरा, पपीता, बादाम, दूध, दही, मशरूम, लौकी के बीज, तिल आदि उपयोगी हैं।क्योकि इसमें बीटा केरोटिन, सेलेनियम, विटामिन-ए, विटामिन-बी2 व बी6, विटामिन-सी, विटामिन-ई, विटामिन-डी तथा जिंक नामक तत्व पायें जाते है इसलिए आप अपने आहार में हरी सब्जियों को अधिक से अधिक शामिल करें।
  • दिन में 8-10 गिलास पानी जरूर पिएं यदि गर्मी का मौसम है तो इससे ज्यादा पानी पियें
  • अच्छी नींद लें।
  • कम से कम तनाव करें क्योंक Immunity Badhane के लिए तनाव कम से कम करें
  • ज्यादा से ज्यादा प्रोटीन युक्त खाद्य पदार्थ  लें क्योकि यदि किसी व्यक्ति को बीमारियां जल्दी जल्दी अपनी चपेट मे ले लेती है तो उसे प्रोटीन को समुचित मात्रा में सेवन किया जाना चाहिए।
  • विटामिन-डी रोगप्रतिरोधकता के लिए महत्त्वपूर्ण एक महत्वपूर्ण तत्व है,सुबह सुबह सूर्य की रोशनी लेने से रोगप्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है।
  • लहसुन एक ऐसा एंटी बैक्टीरियल और एंटी वायरल है।जिसके सेवन से इम्युनिटी बढ़ती है।
  • दिन में तीन-चार बार ग्रीन-टी पीने से रोगप्रतिरोधक क्षमता में इजाफा होता है।
  • सभी खट्टे फल इम्यूनिटी बढ़ाने का काम करते हैं। क्योंकि इसमे विटामिन सी काफी प्रचुर मात्रा में पाया जाता है।
  • अगर आपको सर्दी जुकाम है तो सब्जियों का सूप पीना काफी लाभदायक होता है।

Immunity Kaise Badhaye – योग एवं प्राणायाम से

योग एवं प्राणायाम immunity badhane ke tarike में सबसे बेहतर तरीका है यदि आप रोजना 30 मिनट योग या प्राणायाम करते है तो आप हमेशा उर्जा से भरपूर रहेगें और निरोगी रहेंगे।प्राणायाम करने से आपका शरीर तनाव मुक्त रहेंगें।

प्राणायाम का मूल अर्थ है “साँस लेने की तकनीक”, लेकिन यह केवल साँस लेने की तकनीक नहीं है। प्राण सूक्ष्म जीवन-शक्ति ऊर्जा है शरीर के मन को शांत करने के लिए, या शरीर में गर्मी या गर्मी को बढ़ाने के लिए प्राणायाम हैं। पाचन को बेहतर बनाने के लिए, एकाग्रता बढ़ाने के लिए प्राणायाम एक बेहतर तरीका है।

7 दिनों में Immunity Kaise Badhaye

अब सवाल ये उठता है कि अगर इम्यून पावर कमजोर हो जाए तो उसे बढ़ाने के लिए क्या उपाय किए जाने चाहिए? यहां ऐसे ही कुछ उपायों का जिक्र है जिन्हें आजमाकर आप एक सप्ताह के भीतर अपनी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ा सकते हैं :

  1. ग्रीन टी और ब्लैक टी, दोनों ही इम्यून सिस्टम के लिए फायदेमंद होती हैं लेकिन एक दिन में इनके एक से दो कप ही पिएं. ज्यादा मात्रा में इसके सेवन से नुकसान हो सकता है.
  2. दही के सेवन से भी इम्यून पावर बढ़ती है. इसके साथ ही यह पाचन तंत्र को भी बेहतर रखने में मददगार होती है.
  3. ओट्स में पर्याप्त मात्रा में फाइबर्स पाए जाते हैं. साथ ही इसमें एंटी-माइक्राबियल गुण भी होता है. हर रोज ओट्स का सेवन करने से इम्यून सिस्टम मजबूत बनता है.
  4. विटामिन डी हमारे लिए बहुत महत्वपूर्ण होता है. इससे कई रोगों से लड़ने की ताकत मिलती है. साथ ही हड्डियों को मजबूत बनाए रखने के लिए और दिल संबंधी बीमारियों को दूर रखने के लिए भी विटामिन डी लेना बहुत जरूरी है.
  5. संक्रामक रोगों से सुरक्षा के लिए विटामिन सी का सेवन करना बहुत फायदेमंद होता है. नींबू और आंवले में पर्याप्त मात्रा में विटामिन सी पाया जाता है जो रोग प्रतिरोधक क्षमता को दुरुस्त रखने में मददगार होता है.

इसलिए इन सभी बिंदुओं का पालन करें और स्वस्थ रहें। हम चाहते हैं कि आप स्वस्थ रहें, व्यस्त रहें, आराम करें और हमारे साथ जुड़े रहें हमारे साथ जुड़े रहने के लिए हमारे सोशल नेटवर्क से जुड़े। यदि आप हमारे लेख Immunity Kaise Badhaye को पसंद करते हैं तो लेख को शेयर और लाइक करना न भूलें, धन्यवाद

Related posts

Reticular Formation क्या होता है? इसके क्या कार्य होता है

Saumya

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.