Finance Tips

Share Market Kya Hai? जानिए शेयर मार्केट की जानकारी हिंदी में।

share-market-kya-hai

दोस्तों आज केे लेख में हम बात करेंगे कि Share Market Kya hai aur Kaise Kam Karta Hai – पैसा आज के समय में हर इंसान की जरूरत बन गई है ऐसे में हर इंसान चाहता है कम समय में ज्यादा पैसा कमाया जाए। आज के समय में जिस इंसान के पास पैसा है लोग सिर्फ उसी से पूछते हैं कि वह कैसा है।

इसलिए हर इंसान चाहता है कि कुछ ऐसे तरीके ढूंढने जाएं जिससे वह आसानी से अपने जीवन में पैसा कमा सके। वैसे तो हर इंसान पैसा कमाने के लिए कुछ ना कुछ काम करता ही है। परंतु कुछ व्यापार ऐसे होते हैं जिन पर पैसा लगाने के बाद या तो बहुत ज्यादा पैसा कमाया जा सकता है या फिर नुकसान भी हो जाता है।

आज हम आपको एक ऐसी ही जगह के बारे में बताने जा रहे हैं जिसे शेयर बाजार के नाम से भी जाना जाता है। यह एक ऐसी जगह है जहां पर आप पैसे दांव पर लगाकर काफी ज्यादा मुनाफा भी कमा सकते हैं।

Share Market in Hindi

शेयर मार्केट क्या है- What is Share Market in Hindi ?

शेयर मार्केट जिसे स्टॉक मार्केट के नाम से भी जाना जाता है एक ऐसा प्लेटफॉर्म है जहां पर बहुत सारी कंपनी अपने शेयर खरीदने और बेचने का काम करती हैं। यह एक ऐसा प्लेटफॉर्म है जहां पर लोग अपना पैसा लगाते हैं और उसके बदले काफी सारा पैसा कमा सकते हैं। हालांकि यह मार्केट रिस्क से भरी होती है क्योंकि यहां पर पैसा दवा देने के भी उतने ही चांसेस होते हैं जितने कमाने के होते हैं।

मान लीजिए आप जितने पैसे किसी कंपनी में लगाते हैं तो उस कंपनी के उतने प्रतिशत मालिक आप बन जाते हैं। इसका सीधा और सरल अर्थ यह है कि जिस कंपनी में आप अपना पैसा लगा रहे हैं उस कंपनी में होने वाले प्रत्येक मुनाफे का उतना ही प्रतिशत मुनाफा आपको दिया जाएगा जितना प्रतिशत पैसा आप ने लगाया है। और अगर कंपनी को नुकसान होता है या कंपनी डूब जाती है तो आपका सारा पैसा भी डूब जाएगा आपको ₹1 भी वहां से नहीं मिलेंगे।

शेयर बाजार (Share Market) में शेयर कब खरीदे?

शेयर बाजार क्या है इसके बारे में तो आपको जानकारी मिल ही गई है अब आप जान लीजिए कि शेयर बाजार में पैसा लगाया कैसे जाता है कैसे आप वहां पर शेयर खरीद सकते हैं?

यदि आपको Share Market ki Jankari बिल्कुल भी नहीं है तो शेयर बाजार में पैसा लगाने से पहले आपको शेयर बाजार से जुड़ी प्रत्येक जानकारी के बारे में विस्तारपूर्वक जरूर पढ़ना चाहिए। जैसे किस कंपनी में आपको पैसा लगाना चाहिए और पैसा लगाने का कौन सा समय सबसे ज्यादा सही है इस बात की जानकारी आपके पास होनी चाहिए।

शेयर बाजार में पैसा लगाने से पहले आपको अपनी परिस्थिति अवश्य देख लेनी चाहिए क्योंकि यदि शेयर बाजार में पैसा लगाने के बाद किसी भी प्रकार के घाटे का आपको सामना करना पड़े तो आप उसे बर्दाश्त करने के लिए तैयार हो। ध्यान रखें कि शेयर बाजार में सिर्फ उतना ही पैसा लगाएं ताकि नुकसान होने पर आपको कोई बहुत बड़ा झटका ना लगे।

शेयर मार्केट में पैसा लगाने के लिए आपको एक डीमैट अकाउंट भी खोलना चाहिए जिससे आपको शेयर मार्केट से जुड़ी सभी जानकारी प्राप्त करने और आपके लगाए हुए पैसों का पूरा लेखा-जोखा रखने में सहायता मिलती है। डीमेट अकाउंट खोलने के लिए आप विभिन्न प्रकार की कंपनी या किसी ब्रोकर के पास जाकर आसानी से डीमेट अकाउंट खुलवा सकते हैं।

शेयर मार्केट दिखने में बहुत ज्यादा अच्छी मार्केट दिखती है क्योंकि यहां पर पैसों का लेनदेन बहुत आसानी से होता है लेकिन यहां पर बहुत सारी कंपनी ऐसी भी हैं जो बहुत ज्यादा धोखाधड़ी करती हैं। इसलिए शेयर मार्केट में प्रवेश करने से पहले आपको शेयर मार्केट के बारे में अधिक जानकारी होना बहुत आवश्यक है ताकि आप फ्रॉड कंपनी से बच सकें।

सबसे जरूरी बात यह है आप किसी कंपनी के शेयर तब ही खरीदें जब आप उस कंपनी के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त कर चुके हो। अन्यथा आप किसी फ्रॉड कंपनी के चक्कर में फस कर अपना पूरा पैसा गवा भी सकते हैं।

शेयर मार्केट( Share Market ) में पैसा कैसे लगाएं?

शेयर मार्केट में पैसा लगाने से पहले जैसा कि हमने आपको बताया कि डीमेट अकाउंट खोलना जरूरी होता है। यदि आप भी शेयर मार्केट में पैसा लगाना चाहते हैं तो आपको अपना एक डीमैट अकाउंट बनाना जरूरी है जिसको बनाने के 2 तरीके होते हैं।

डीमेट अकाउंट खोलने का पहला तरीका – शेयर मार्केट से जुड़े बहुत सारे ब्रोकर ऐसे हैं जो डीमेट अकाउंट खोलने का काम करते हैं जिसके बदले वे एक कमीशन की राशि आप से मांगते हैं। उस ब्रोकर के पास जाकर आप अपना डिमैट अकाउंट खुलवा सकते हैं जहां पर आप के शेयर में लगाए गए पैसे रखे जाते हैं।

जिस तरह से एक आम सेविंग अकाउंट में आप अपना पैसा संभाल कर रखते हैं ठीक उसी प्रकार से डीमेट अकाउंट में भी शेयर मार्केट में निवेश किया गया पैसा रखा जाता है।

शेयर मार्केट में होने वाली प्रत्येक लेनदेन का पैसा आपके डीमेट अकाउंट में ही आता है और उसी अकाउंट से जाता भी है तो इसलिए आप अपना अकाउंट सेविंग अकाउंट से लिंक करें ताकि आपका आने वाला पैसा आपके बैंक अकाउंट में सीधे ही ट्रांसफर हो सके और निवेश किया जाने वाला पैसा आपके बैंक अकाउंट से सीधे ही काटा जा सके।

डीमेट अकाउंट खोलने का दूसरा तरीका:- आप बैंक शाखा में जाकर भी अपना डिमैट अकाउंट खुलवा सकते हैं। इसके लिए आप अपने सभी दस्तावेज ले जाकर किसी भी बैंक अकाउंट में अपना डीमेट अकाउंट खुलवा सकते हैं।

यदि दोनों को कंपेयर करके देखा जाए तो एक ब्रोकर के जरिए डिमैट अकाउंट खुलवाना ज्यादा फायदेमंद होता है क्योंकि एक ब्रोकर आपको शेयर मार्केट से जुड़ी सभी जानकारी और उचित सुझाव देने में सक्षम होता है। आपको कब कहां और कैसे पैसा निवेश करना चाहिए इस बात की पूरी जानकारी आपको ब्रोकर बहुत अच्छे से दे सकता है जिसमें बैंक की कोई शाखा आपकी मदद नहीं कर सकती है।

भारत में मौजूद स्टॉक एक्सचेंज

शेयर मार्केट से जुड़े दो स्टॉक एक्सचेंज भारत में मशहूर है जहां पर व्यापार के जरिए शेयर खरीदे और बेचे जाते हैं। मुख्य रूप से Bombay Stock Exchange और National Stock Exchange ही शेयर खरीदने और बेचने के लिए सर्वप्रथम जाने जाते हैं। यदि कोई व्यक्ति शेयर मार्केट में निवेश करना चाहते हैं तो वह ब्रोकर के जरिए भी स्टॉक एक्सचेंज के सदस्यों से जुड़कर निवेश कर सकते हैं। इसके अलावा सीधे ही स्टॉक मार्केट में स्वयं जाकर अपने शेयर कोई भी व्यक्ति आसानी से खरीद वह बेच सकता है।

शेयर मार्केट (Share Market) कब बढ़ता है और कब घटता है?

शेयर बाजार में उतार-चढ़ाव होते रहते हैं परंतु उन उतार-चढ़ाव के पीछे दो मुख्य कारण होते हैं और वह होते हैं डिमांड और सप्लाई। आईये अब इन कारणों को थोड़ा विस्तार पूर्वक जान लेते हैं।

डिमांड और सप्लाई

शेयर बाजार में हर तरीके की समझ का इंसान मौजूद होता है। सरल भाषा में कहें तो एक इंसान यह सोचता है कि शेयर मार्केट बहुत आसानी से बढ़ सकता है और वहीं दूसरी तरफ कुछ लोग ऐसे भी सोच रखते हैं कि अब शेयर मार्केट घटने वाला है। ऐसी अफवाहें शेयर मार्केट में दिन-प्रतिदिन फैलाई जाती रहती हैं। इसलिए उन अफवाहों पर ध्यान देने की बजाय यदि आप डिमांड और सप्लाई पर ध्यान देंगे तो आप खुद इस बात का अंदाजा लगा सकते हैं कि शेयर मार्केट में कीमत कब बढ़ने वाली है और कब घटने वाली है।

  • मान लीजिए शेयर मार्केट में डिमांड बहुत ज्यादा बढ़ने लगती है या एक्सीड हो जाती है ऐसे में सप्लाई भी बढ़ जाती है जिसकी वजह से कीमतों में बढ़ोतरी होने लगती है।
  • इसके ही विपरीत जब शेयर मार्केट में सप्लाई बहुत ज्यादा बढ़ जाती है और डिमांड में कमी आती है तो वह एक ऐसा समय होता है जब कीमतों में गिरावट आती दिखाई पड़ती है।

यदि आप स्वयं इन बातों को समझना और देखना चाहते हैं तो शेयर मार्केट की गहन जानकारी आपके पास होनी बेहद आवश्यक है।

हमारे द्वारा बताई गई शेयर मार्केट की यह जानकारी उम्मीद है आपके लिए काफी हद तक सहायक रहेगी। यदि आपको हमारी यह जानकारी पसंद आती है तो इसे Share Market Kya hai aur Kaise Kam Karta Hai शेयर जरूर करें और आप शेयर मार्केट में निवेश करने की सोच रहे हैं तो शेयर मार्केट से जुड़े और जानकारी के लिए बने रहे हमारे साथ।

Related posts

NEFT se Paise Kaise Transfer Kiya Jata Hai? NEFT के बारे में पूरी जानकारी

Saumya

RTGS Kya Hai ? RTGS से पैसा कैसे ट्रांसफर किया जाता है ?

Saumya

Demat Account Kya Hai ? 📈 डीमैट खाता कैसे खोलें

Saumya

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.